एक विहंगावलोकन पृ-87

ज्ञानकोश से
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
Khs-logo-001.png
भुवनेश्वर केंद्र


Vihangavalokan page 87a.jpg
Vihangavalokan page 87b.jpg

स्थापना

भुवनेश्वर केंद्र ओड़िसा सरकार द्वारा आवंटित यूनिट-9 सरकारी बालक उच्च विद्यालय, भुवनेश्वर परिसर के तीन कमरों में चलाया जा रहा है। इसका कार्यक्षेत्र ओड़िसा, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ तथा झारखंड हैं केंद्र के कार्यक्षेत्र मे आने वाले राज्यों के हिंदी शिक्षकों तथा हिंदी प्रचारकों के लिए एवं अन्य स्वैच्छिक संस्थाओं के प्राथमिक से लेकर उच्च स्तर तक के हिंदी शिक्षकों के लिए नवीकरण पाठ्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इन नवीकरण कार्यक्रमों के माध्यम से हिंदी शिक्षकों को भाषा शिक्षण की नवीन प्राविधियों से परिचित कराया जाता है

अब तक पूर्णकालिक क्षेत्रीय निदेशक

1. प्रो. रामकमल पाण्डेय 2003 से 2007
2. डॉ. गंगाधर वानोडे 06.03.2007 से


शैक्षिक कार्यक्रम

नवीकरण पाठ्यक्रम - केंद्र ने स्थापना के समय से ( 2003 से जनवरी, 2011 ) अब तक इस केंद्र के कार्यक्षेत्र में आने वाले प्रांतो के लिए विभिन्न प्रकार के पाठ्यक्रमों ( नवीकरण, हिंदी शिक्षण पारंगत, हिंदी शिक्षण पारंगत पत्राचार ( सह-सम्पर्क कार्यक्रम एवं परीक्षा ) कार्यशाला आदि का आयोजन किया है, जिसका विवरण इस प्रकार से है-

वर्ष 2003 से 2007 जनवरी तक कुल 45 नवीकरण कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं, जिनमें कुल 1713 प्रतिभागियों को प्रशिक्षित किया गया है।

2- हिंदी शिक्षण पारंगत ( बी.एड. स्तरीय ) - उड़ीसा के हिंदी प्रेमियों के आह्वान पर संस्थान द्वारा केंद्र पर शैक्षिक सत्र 2007-08 से हिंदी शिक्षण पारंगत पाठ्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस शैक्षिक सत्र मे कुल 31 तथा सत्र 2008-09 में कुल 45 छात्राध्यापकों को प्रशिक्षित किया गया।


प्रसार कार्यक्रम

राष्ट्रीय संगोष्ठियाँ - केंद्र का उद्देश्य न केवल नवीकरण पाठ्यक्रमों का आयोजन करना है वरन विभिन्न प्रकार की शैक्षिक गतिविधियों का आयोजन कर छात्राध्यापकों को लाभान्वित करना भी है। इस कड़ी के अतंर्गत केंद्र द्वारा समय-समय पर राष्ट्रीय संगोष्ठियों, लघु बजटीय संगोष्ठ, कार्यशालाएँ, व्याख्यान मालाएँ आयोजित की जाती हैं। केंद्र पर अब तक 4 राष्ट्रीय संगोष्ठियों का आयोजन किया ।


पीछे जाएँ
86
केंद्रीय हिंदी संस्थान
87
स्वर्ण जयंती 2011
88
आगे जाएँ


विहंगावलोकन अनुक्रम
क्रमांक लेख का नाम पृष्ठ संख्या
1. आमुख 3
2. अनुक्रमणिका 4
3. केंद्रीय हिंदी संस्थान के पचास वर्ष 7
4. संस्थान एक परिचय 17
5. नये युग में प्रवेश 25
6. शिक्षण कार्यक्रम 29
6. शिक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम 34
7. शोध और सामग्री निर्माण 38
8. संस्थान प्रकाशन 41
9. प्रसार कार्यक्रम 44
10. हिंदी की अंतर्राष्ट्रीय भूमिका 49
11. आधारिक संरचनाएँ 53
12. स्वर्ण जयंती वर्ष : कुछ नए संकल्प 56
13. संस्थान के क्षेत्रीय केंद्र दिल्ली 61
14. हैदराबाद 70
15. गुवाहाटी 75
16. शिलांग 78
17. दीमापुर 82
18. मैसूर 84
19. भुवनेश्वर 87
20. अहमदाबाद 90


वैयक्तिक औज़ार

संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
सहायता