एक विहंगावलोकन पृ-78

ज्ञानकोश से
EditorR (वार्ता | योगदान)ने किया हुवा 21:42, 23 अगस्त 2012का अवतरण

(अंतर) ← पुराना संस्करण | वर्तमान संशोधन (अंतर) | नया संशोधन → (अंतर)
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
Khs-logo-001.png
शिलांग केंद्र

स्थापना

Vihangavalokan page 78.jpg

इस केंद्र की स्थापना जुलाई, 1976 में की गयी थी। किन्हीं कारणों से यह केंद्र जून, 1979 में गुवाहाटी स्थानान्तरित कर दिया गया। उस समय इसका कार्यक्षेत्र असम, अरुणाचल, मेघालय, मिजोरम, मणिपुर, नागालैण्ड एवं त्रिपुरा था। मेघालय राज्य की मांग पर सितंबर, 1987 में पुन: इसे शिलांग में प्रारंभ किया गया। इस समय इसे पूर्वोत्तर पर्वतीय विश्वविद्यालय, शिलांग के परिसर में प्रारंभ किया गया और इसका कार्यक्षेत्र मेघालय तथा मिजोरम निर्धरित किया गया। बाद में मणिपुर को भी केंद्र के साथ जोड़ लिया गया। नागालैण्ड-दीमापुर में संस्थान का नया केंद्र स्थापित होने के पश्चात केंद्र का कार्यक्षेत्र मेघालय, मिजोरम तथा त्रिपुरा कर दिया गया।

अब तक पूर्ण कालिक क्षेत्रीय निदेशक
1. डॉ. न.वी. राजगोपालन प्रोफेसर 15.07.1976 से 05.05.1979
2. डॉ. जयकृष्ण विद्याशंकर रीडर 01.05.1979 से 16.06.1979
3. डॉ. सी.ई. जीनी रीडर 07.09.1987 से 23.11.1991
4. डॉ. म.मा. बासुतकर रीडर 27.11.1991 से 13.08.1992
5. डॉ. ठाकुर दास रीडर 13.08.1992 से 24.12.1993
6. डॉ. चतुर्भुज सहाय प्रोफेसर 24.12.1993 से 13.09.1994
7. डॉ. ललित मोहन बहुगुणा रीडर 12.09.1994 से 01.05.1997
8. डॉ. मीरा सरीन प्रवक्ता 01.05.1997 से 08.06.1998
9. डॉ. प्रमोद कुमार शर्मा रीडर 09.06.1998 से 15.07.2001
10. डॉ. हेमराज मीणा रीडर 15.07.2001 से 15.07.2002
11. डॉ. श्रीशचंद्र जैसवाल प्रोफेसर 15.07.2002 से 23.09.2003
12. डॉ. रवि प्रकाश गुप्त प्रोफेसर 23.09.2003 से 30.09.2004
13. डॉ. विद्याशंकर शुक्ल रीडर 01.10.2004 से


शैक्षिक कार्यक्रम - केंद्र द्वारा नवीकरण पाठ्यक्रम, उच्च नवीकरण पाठ्यक्रम, कार्यशालाएँ, शैक्षिक सामग्री निर्माण कार्यशालाएँ आदि का आयोजन किया जाता है, जिनका विवरण इस प्रकार है-

(1) नवीकरण पाठ्यक्रम - केंद्र पर अब तक 117 नवीकरण पाठ्यक्रम आयोजित किए गए हैं, जिनमें 3716 प्रतिभागियों ने भाग लिया।


पीछे जाएँ
77
केंद्रीय हिंदी संस्थान
78
स्वर्ण जयंती 2011
79
आगे जाएँ


विहंगावलोकन अनुक्रम
क्रमांक लेख का नाम पृष्ठ संख्या
1. आमुख 3
2. अनुक्रमणिका 4
3. केंद्रीय हिंदी संस्थान के पचास वर्ष 7
4. संस्थान एक परिचय 17
5. नये युग में प्रवेश 25
6. शिक्षण कार्यक्रम 29
6. शिक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम 34
7. शोध और सामग्री निर्माण 38
8. संस्थान प्रकाशन 41
9. प्रसार कार्यक्रम 44
10. हिंदी की अंतर्राष्ट्रीय भूमिका 49
11. आधारिक संरचनाएँ 53
12. स्वर्ण जयंती वर्ष : कुछ नए संकल्प 56
13. संस्थान के क्षेत्रीय केंद्र दिल्ली 61
14. हैदराबाद 70
15. गुवाहाटी 75
16. शिलांग 78
17. दीमापुर 82
18. मैसूर 84
19. भुवनेश्वर 87
20. अहमदाबाद 90
वैयक्तिक औज़ार

संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
सहायता